Artificial intelligence (AI) full detail in hindi आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस

आपने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI)  Artificial intelligence  का नाम तो जरूर सुना होगा। आज हम इसी के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहे हैं। तो चलिए शुरू करते हैं।



आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI)



Artificial Intelligence 


रोबोट, स्वचालित मशीन इत्यादि में उपयोग की जाने वाली तकनीक को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI)  कहा जाता है।

यदि आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) को सामान्य भाषा में समझा जाये तो  है, मानव द्वारा बनाये गए कृत्रिम बुद्धि  जिसमे सोचने समझने की शक्ति हो उसे  आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) कहा जाता है।

दोस्तों, हमारे शरीर में शक्ति  किसी  चीज को देखकर, सुनकर या छूने  पर  स्वचालित  रूप से बढ़ जाती है।  हम सोचते हैं, उस चीज़ के साथ कैसे व्यवहार करें। इसी तरह, एक रोबोट के भीतर, एक तरह की खुफिया जानकारी विकसित की जाती है, जिसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) कहा जाता है।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) एक बहुत बड़ा विषय है। इसमें हर रोज  शोध हैं। आपने रोबोट मूवी भी देखी है, जो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) पर आधारित थी। अब आपके दिमाग में कुछ प्रश्न आ रहे हैं, जैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) क्या  होता है। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) का भविष्य खराब होगा या अच्छा होगा।

फ्रेंड्स आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) एक इंटेलिजेंस पावर है जो कृत्रिम रूप से बनायीं गयी  है, या यदि आपके कंप्यूटर में इंसान की तरह मस्तिष्क है, तो हम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) कह  सकते है।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) का प्रयोग कई तरीकों से किया जाता है, बहुत सारे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) हैं जिन्हें हम बहुत पहले से  इस्तेमाल कर रहे हैं और भविष्य में कई और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आएंगे।


आइए जानते है  आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कितने प्रकार (एआई) के होते हैं।


आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के प्रकार   { Types of Artificial Intelligence (AI)}:-


कमजोर  एआई  {Weak Artificial Intelligence} (WAI) 


अगर हम कमजोर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) के बारे में बात करे  तो हम कह सकते है कि ऐसा आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई)  जो केवल एक विशिष्ट डिवाइस में अच्छी तरह से काम कर सकती है उसे Weak Artificial Intelligence (WAI) कहते है 

उदाहरण के लिए: यदि आपका कंप्यूटर शतरंज खेल खेलता है, तो वह शतरंज खेलने में विशेषज्ञ है लेकिन इसके अलावा वह और कुछ नहीं कर सकता है। अमेज़ॅन, फ्लिपकार्ट जैसी शॉपिंग साइट्स में, आपकी खरीदारी से संबंधित कुछ सिफारिशें नीचे आती हैं। यह सब कमजोर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस द्वारा किया जाता है। और यह शतरंज खेल नहीं खेल सकता है। ऐसी बुद्धि जो केवल एक विशिष्ट क्षेत्र में काम कर सकती है, हम कृत्रिम संकीर्ण खुफिया (एएनआई) Artificial Narrow Intelligence (ANI).कहते हैं।

अब आप समझ गए होंगे की , कमजोर एआई Weak Artificial Intelligence (WAI) क्या है, यह कैसे काम करता है और यह किसी भी डिवाइस में केवल सीमित क्यों काम कर सकता है।







 मजबूत  एआई   Strong Artificial Intelligence (SAI)-


अगर हम मानव मस्तिष्क के बारे में बात करे तो यह बहुत जटिल है, मानव मस्तिष्क में बहुत सारे common sense है या ऐसी बुद्धि है जो संभवतः मशीन में नहीं आ सकती है, लेकिन आपको बता दे  कि  मशीन में मानव दिमाग की शक्ति है जिसे मजबूत एआई द्वारा बनाई जा सकती है  जिसे आर्टिफिशियल जनरल इंटेलिजेंस  General Artificial Intelligence भी कहा जाता है।

मजबूत एआई ऐसी प्रणाली है जहां मानव मस्तिष्क और मशीन लगभग बराबर होती है, जिसे  आप कर सकते हैं, आप क्या सोच सकते हैं, और ऐसी कई आम चीजें हैं जिन्हें हम सहज महसूस कर रहे  हैं, अगर सभी काम मशीन या रोबोट द्वारा किया जाता है, तो हम इसे ही  मजबूत एआई या कृत्रिम वाइड इंटेलिजेंसArtificial Wide Intelligence. ।



व्यक्तित्व एआई  (Singularity or Artificial Super Intelligence)(ASI)


strong  AI अभी तक उपयोग नहीं किया जाता है। लेकिन  शायद 2050  तक  दुनिया में आ जायेगा । फिर आप ऐसी मशीन या  रोबोट देखेंगे  जिसका खुफिया स्तर मानव के बराबर होगा।

इस  आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) में  एक बार मशीन  या रोबोट  ने कुछ सीखा दिया जायेगा  तो यह उस पर समय के साथ सुधर  जारी रखेगा।

अगर हम सरल भाषा में कहते हैं, तो एकता ऐसी बुद्धि है, जिसके बाहर मनुष्य कुछ भी नहीं है। इसका मतलब यह है कि एक बार यह मानव मस्तिष्क के स्तर तक पहुंच गया ,आगे बढ़ता जाएगा। इस मामले में, यह एक बहुत अच्छी बात है, हम बहुत से  चीजों को नियंत्रित कर सकेंगे , हम नए प्रयोग कर सकेंगे और हमारे पास एक बहुत ही शक्तिशाली रोबोट होगा। उनकी मदद से हम बहुत कुछ करने में सक्षम होंगे।

लेकिन दोस्तों! यदि मशीन सुपर इंटेलिजेंस बन गयी , तो  रोबोट मानव से ज्यादा इंटेलीजेंट हो जायेंगे जिससे  दुनिया का सारा नियंत्रण रोबोट पर होगा  इंसान  पर जोखिम आ सकता है। 

लेकिन अगर सुपर इंटेलिजेंस का समय आएगा और मशीन मनुष्यों के सभी नियमों पर सही तरीके कार्य  करना शुरू कर देगी, तो हम  कह सकते  है कि कृत्रिम भावनात्मक इंटेलिजेंस (artificial emotion intelligence )  अर्थात  मशीनों में भावना होगी, ताकि वे इंसानों के नियंत्रण में रह सकें।





 आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) के उपयोग 

AI का  manufacturing में उपयोग 

 आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) का इस्तेमाल मैन्युफैक्चरिंग में बहुत तेजी से बढ़ रहा है ,बड़े-बड़े manufacturing company रोबोट के इस्तेमाल से कार, मोबाइल और अन्य product को कम समय और बेहतर तरीके से कम लागत में बनाया जा रहा  है 


AI का स्वास्थ्य  क्षेत्र में उपयोग  (AI in healthcare)

AI का सबसे  ज्यादा इस्तेमाल स्वास्थ्य के क्षेत्र में होता है , आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI)  के मदद से रोगी का बेहतर इलाज कम से कम  लागत में संभव है। इसलिए अब बहुत से बड़े हॉस्पिटल में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) का इस्तेमाल  किया जा रहा है.


इसके आलावा भी  आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) का कई उपयोग है जैसे -smartphone में AI camera का उपयोग किया जा रहा है जिसकी मदद से हम बहुत ही अच्छा फोटो ले सकते है.

Post a Comment

0 Comments